हिन्दी भाषा में स्पीच टू टेक्स्ट प्रोग्राम

s2 स्पीच टू टेक्स्ट उस सॉफ्टवेयर को कहा जाता है जिस के माध्यम से बोले गए शब्द को कम्पुटर लिपि में लिख देता है .इस के लिए कम्पुटर में इनपुट डिवाइस के रूप में माइक्रोफोन का होना जरूरी है . अंग्रेजी भाषा में इस तरह के प्रोग्राम बहुत पहले से उपलब्ध हैं किन्तु भारतीय लोगों के अंग्रेजी अलग तरह से बोलने के कारण ये भारत में बहुत लोकप्रिय नहीं हो सके .

हिन्दी भाषा में इस तरह के प्रोग्राम की आवश्यकता बहुत वर्षों से महसूस की जा रही थी .विभिन्न सॉफ्टवेयर प्लेटफोरमों पर इस तरह के प्रोग्राम विकसित किये गए .हम नीचे तीन तरह के प्लेटफार्म पर बने तीन सबसे अच्छे प्रोग्राम की चर्चा करेंगे .

विंडो आघारित प्रोग्राम ( श्रुतलेखन )

विंडो आधारित सबसे प्रचलित प्रोग्राम का नाम श्रुतलेखन है .इसे सी डेक पुणे ने विसकित किया है .यह स्पीच टू टेक्स्ट का पहला सफल प्रोग्राम है .इसे बनाने में आई. बी. एम. ने सहयोग किया था .भारत सरकार का राजभाषा विभाग इसे मान्यता देता है .

इस प्रोग्राम का मूल्य लगभग ५००० रूपये है जिसे सी डेक पुणे से खरीदा जा सकता है .इसे इसके साथ आयी सी डी के माध्यम से इंस्टाल करना पड़ता है .यदि उच्चारण साफ़ हो तो यह प्रोग्राम सरकारी कामकाज के शब्दों को ७० % की शुद्धता से लिख लेता है .इस प्रोग्राम को इंस्टाल करने और प्रयोग करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत नहीं हैं .

यह एक सुरक्षित प्रोग्राम है .इसमें कोई वाइरस नहीं है .यह कम्पुटर की दूसरी फाइलों को नहीं बदलता है .इस का समूल्य होना और सुरक्षित होना ही इसके विकास में बाधा है .इस प्रोग्राम को प्रयोग करते समय ,प्रोग्राम सी डी का सी डी ट्रे में होना जरूरी है .अन्यथा यह प्रोग्राम नहीं चलता .अर्थात प्रोग्राम इंस्टाल करने के बाद भी आप को प्रोग्राम की सी डी हमेशा अपने पास रखनी होगी .दूसरे इस प्रोग्राम के विक्रेताओं ने कम कीमत कर अधिक प्रोग्राम बेचने की योजना पर ध्यान नहीं दिया .

एंडोराइड आधारित ( जुगाड़ )

एंडोराइड के एक सीमा तक मुक्त सॉफ्टवेयर होने के कारण भारत में पिछले तीन वर्षों में एंडोराइड प्लेटफार्म पर बहुत काम हुआ है .कम्पुटर के जानकार अपनी जरूरत के अनुसार आसानी से एक अच्छा प्रोगाम लिख लेते हैं जो सफलता से काम करते हैं .यह इसी तरह का यह प्रोग्राम है .यह नीचे लिखे ढंग से काम करता है .

इसके लिए आप के एंडोराइड फोन होना चाहिए जिसमें जिंजरब्रेड या उससे ऊपर का वर्सन हो .सबसे पहले सेटिंग में जा कर हिन्दी भाषा का चुनाव कर लें

अब अपने एंड्रायड मोबाइल में गूगल एप्स में जाएँ वहाँ से डॉक्स  ऐप्प  इंस्टाल  करें .फिर अपने कम्पुटर में गूगल डॉक्स खोलें उसमें एक नई फ़ाइल बनाएँ उसे कोई नाम दें . अब अपने मोबाईल में उस नई फ़ाइल को को  खोलें  जिसे  आपने  अपने   कंप्यूटर  या  लैपटॉप  पर  खोला  हुआ  है

अबमोबाइल पर स्पीच को एक्टीवेट करें जिस में आप को माइक्रोफोन जैसा आई कों बना दिखाई देगा .जो चमकता हुआ दिखेगा . अब बस अपने  मोबाइल  पर  बोलना चालु कर दें . जैसे  जैसे  आप  बोलते जाएंगे, आप  देखेंगे  कि  आपके  कंप्यूटर  या  लैपटॉप  के   गूगल   डॉक्स  के  स्क्रीन  पर  भी  वैसा ही टाइप  होता  जा  रहा  है.

इस प्रोग्राम को सफलतापूर्वक चलाने के लिए मोबाइल का प्रोसेसर डुअल या कवाडरा कोर हो .इसके लिए सतत इन्टरनेट कनेक्शन चाहिए और वह भी अच्छी गति का होना चाहिए .यह प्रोग्राम लगभग ८५ % की शुद्धता से काम करता है .

वेब आधारित प्रोग्राम ( श्री अनिल अग्रवाल )

यह प्रोग्राम बेब आधारित प्रोग्राम है इसे श्री अनिल अग्रवाल ने विकसित किया है ( इससे अधिक जानकारी मेरे पास नहीं है ) यह प्रोग्राम निम्नलिखित एड्रेस पर उपलब्ध है .

http://www.hindidictation.com/Index1.html

यह प्रोग्राम अभी क्रोम ब्रोउजर पर चलता है .ऊपर लिखे अड्रेस पर जाएँ . इस प्रोग्राम को डाउनलोड या इंस्टाल करने की जरूरत नहीं है .स्क्रीन पर आए माइक्रोफोन पर क्लिक करें .तुरंत ऊपर एक एड ओन प्रयोग के लिए विकल्प प्रकट होगा .जो एड ओन के लिए आप से स्वीकृति मांगेगा .उसे अनुमति दें अर्थात “Allow ” पर क्लिक करें .

इसके बाद तुरंत माइक्रोफोन का आइकोन चमकने लगेगा .बस बोलना शुरू कर दीजिए .बॉकस में बोले गए शब्द और वाक्य टाइप होने लगेंगे .

यह वेब बेस सॉफ्टवेयर इसलिए इसके लिए सतत इन्टरनेट कनेक्शन की जरूरत है .अच्छी बात यह है कि सामान्य गति का इन्टरनेट कनेक्शन काफी है और भी अच्छी बात यह है कि यह ९५% शुद्धता से काम करता है .डर यह है कि कहीं यह साईट बंद न हो जाए.

ऊपर लिखे तीनों प्रोग्राम के कम्पुटर के आउटपुट अर्थात कम्पुटर द्वारा लिखे गए शब्दों को आप आसानी से माइक्रोसॉफ्ट वर्ड या ओपन ऑफिस के डाकुमेंट में कॉपी पेस्ट कर सकते हैं फिर उसे अच्छे स्पेल चेक से ठीक कर सकते हैं या स्वयं सम्पादित कर सकते हैं .

यह सब उतना ही आसान है जितना आपको पढ़ने में लग रहा है . सफलता के लिए शुभकामनाएं.

अशोक उपाध्याय

Share this:

PinIt
Top