मंत्री जी के कटहल

jackfruit_t_200614सांसद श्री महेंद्र प्रताप जी के सरकारी निवास ४ सफदरजंग लेन दिल्ली से दिनांक १७-१८ जून की रात को दो कटहल चोरी हो गए . सांसद जी की घोषित सम्पति ६३० करोड रुपए है .वे कई दवा कम्पियों के मालिक हैं .लूटिन जोन में शान से रहते हैं और अपने को राजा कहलना पसंद करते हैं .

इनके इस बंगले के कम्पाउंड में कटहल का पेड लगा हुआ है .अपनी सम्पति की अच्छी तरह से करते हैं इसलिए गिन कर रखा हुआ था कि अमुक पेड़ पर ९ कटहल लगे हुए हैं .वे दौरे लौट कर आए .अपने कटहल गिने .वे ७ ही रह गए . पूछताछ हुई बाकी २ कटहल कहां गए .सब चुप .कुल कितने कटहल थे ७ की ९ लोगों को यह भी नहीं मालूम नहीं था .

जब मंत्री जी की पूछताछ में कुछ नहीं निकला तो उन्होंने अपने पी ए शोभित को पुलिस को बुलाने को कहा .सायरन बजाती पुलिस की गाडियां उनके बंगले पर पहुँचने लगीं .पुलिस ने बंगले के नौकर, माली ,धोबी , दूधवाला , अखबार वाला सभी की परेड करा ली आखिर यही तो संभावित चोर होते हैं .

दिल्ली पुलिस के लिए यह एक बड़ा मामला है सो १० अफसरों की विशेष टीम बना दी . जिस में क्राईम ब्रांच और फोर्सनिक साइंस के विशेषज्ञ हैं .इन्होने मौके पर जाकर मुआयना किया .कटहल के पेड़ के आसपास से फिंगर प्रिंट और दूसरे नमूने एकत्रित किए .उन्हें आसपास की जमीन पर जूते का एक निशान मिल गया अब जब अपराधी मिलेगा तो इस पैर के निशान को उसके पैर के निशान से मिलाया जाएगा

कोर्ट में अपराध साबित हो इसके लिए जरूरी है चोर का पकड़े जाना और चोरी के माल की बरामदगी होना .अब चोर को तो पुलिस खोज रही है .माल की बरामदगी के बारे में मैं सोच रहा हूं जिस ने भी खाया होगा सुबह निकाल दिया होगा .अब पुलिस वाले नदी किनारे ,रेलवे लाइन के पास सैम्पल इक्ट्ठा कर रहे होंगे कि किस में मंत्री जी के कटहल के अवशेष हैं .

ताजा खबर के अनुसार अब पुलिस के लिए नया काम है कटहल की रक्षा करने का .सूचना के अनुसार ये कटहल का पेड़ बंगले की चारदीवारी के पास है .अब बचे हुए ७ कटहलों में से पांच का मुंह तो अंदर कोठी की तरफ है मगर २ कटहल सड़क से ही दिखाई देते हैं .पुलिस को इन दो कटहलों की विशेष चिंता है उनकी रक्षा के लिए सी सी टी वी दोबारा एडजस्ट किये जा रहे हैं और सामने वाली सडक पर पुलिस की गश्त बढ़ा दी गयी है .पुलिस का सिपाही अब सड़क पर सामने देख कर चलने के बजाय इन कटहलों पर नजर रख कर चलता होगा कि अगर कहीं ये चोरी हुए तो उसका सस्पेंड होना तय है .

आप के घर के कम्पाउंड से भी पपीते या अमरुद या अनार चोरी हुए होंगे .बुरा तो आप को भी लगा होगा मगर पुलिस कम्प्लेंट कराने की कभी सोची .नहीं .रास्ते में आपकी जेब से पर्स चोरी होने पर ,जब आप थाने में तो शिकायत लिखवाने जाते हो तो पुलिस वाला पूछता है कि बतलाओ पर्स कहां ,किस जगह चोरी हुआ .अरे भई पता होता तो कि कहां पर्स चोरी हो रहा तो उसे चोरी होने ही कहां होने देता .किसी तरह टरका दो जिससे शिकायत न लिखनी पड़े. कटहलों की चोरी के लिए जिस तरह से १० अफसरों की टीम आनन् फानन में बना दी गयी और जो जांच कर रही है वैसी टीम तो हत्या बलत्कार और कोर्ट की डांट फटकार पड़ने के बाद भी नहीं बनती .

पुलिस के बड़े अफसरों और नेताओं से बात करो तो वे पुलिस बल में जवानों और अफसरों की कमी की बात बतलाते हैं .बतलाते हैं हमारे देश में कितनी जनसंख्या पर कितने पुलिस वाले हैं और विदेश में यह अनुपात कितना है .कोई यह क्यों नहीं बतलाता कि देश में आम जन की बकत मंत्री जी के कटहल से भी कम है कहने सुनने को अपनी महानता के बारे में आप कुछ भी कह लें .

ए उपाध्याय

 

Share this:

PinIt
Top